नौकरी और बिजनेस में क्या अंतर है?

इस आर्टिकल में आप जाननेंगे वाले हैं नौकरी और बिजनेस में क्या अंतर है और किसे आपको करनी चाहिए? वैसे देखा जाए तो जहां बिजनेस होती हैं वही नौकरी पैदा होने की संभावना होती हैं.

लाइफ में अक्सर लोग अपने कैरियर को लेकर चिंतित रहते हैं और वैसे में उन्हें नौकरी करनी चाहिए या कोई बिजनेस? इसे कैसे डिसाइड किया जाए?

जब हम पढ़ाई कर रहे हैं होते हैं तब भी हम संकट में होते हैं कि हमें किस सब्जेक्ट से पढ़ाई करनी चाहिए? कौन सा कॉलेज ले और किसी फ़ील्ड के लिए खुद को तैयार करें?

उसके बाद हमें यह चिंता होती हैं कि नौकरी करें या बिजनेस क्योंकि जहां आप Business में खुद का मालिक होते हैं तो वहीं नौकरी में किसी का नौकर.

यदि आप अब भी confusion में है तो इस आर्टिकल को पढ़े आपकों दोनों के बारे में कुछ बातें बताए गए हैं और उसके बाद आप डिसाइड कर लेना की आपकों नौकरी करनी चाहिए या बिजनेस.

नौकरी और बिजनेस में क्या अंतर है और किसे करना चाहिए? Difference between a Job and Business in Hindi 

नौकरी और बिजनेस में अंतर

* बिजनेस में आप अपने ख़ुद के सपने को साकार करते हैं और वहीं नौकरी में आप किसी के लिए काम करते हैं जिससे उसके सपने पूरे होते हैं.

* नौकरी में आपकों सुबह से लेकर शाम तक ऑफिस में काम करना होता है. आपकों सप्ताह में केवल sunday को ही हॉलिडे मिलती हैं लेकिन ज़्यादा काम होने पर आपकी हॉलिडे भी कैंसिल हो सकती हैं. और वहीं बिजनेस में आप अपने मन के मालिक हैं आपको office आना है आए नहीं तो दूसरो को थोड़ी वक्त के लिए लगा कर अपना काम कर सकते हैं.

* बिजनेस में आपकों हमेशा competition का सामना करना पड़ता है ताकि आपके Business अच्छी तरह से चल सके और वहीं नौकरी की बात किया जाए तो आप केवल अपने काम या target से मतलब रखते हैं.

* ख़ुद की तरफ से कुछ भी change नहीं कर सकते हैं क्योंकि उसके लिए आपका कोई boss बनाया गया होगा. यदि आप ऐसा करते हैं तो नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है.

* इससे पता चलता है कि नौकरी में आपकों अपने मालिक, बॉस, या सीनियर के बातों का अमल करना होगा. लेकिन Business में आप सबकुछ है यानी आप ही मालिक हैं, बॉस है और सीनियर भी.

* बिजनेस के माध्यम से आप बहुत सारा पैसा, अच्छे लाइफ स्टाइल, घर, गाड़ी, नाम आदि चीजे पा सकते हैं लेकिन नौकरी में आप केवल एक अच्छा employee बन सकते हैं और थोड़ी बहुत चीजें ले सकते हैं लेकिन उसका भी लिमिट है.

*  बिजनेस में केवल आपका माइंड चलता है, वो नहीं देखता की आपके पास कौन सा डिग्री है और आप कितने पढ़े लिखे हैं लेकिन नौकरी में आपके पास degree के साथ – साथ अच्छे जगह से पढ़े होने चाहिए.

* नौकरी के लिए आपके पास degree के साथ – साथ talent की भी जरूरत होती हैं तभी आप अच्छे पैसे कमा सकते हैं लेकिन Business में आपका आइडिया और दिमाग चलता है.

* नौकरी आपके लिए केवल एक कैरियर हो सकता है आपके परिवारजनों का फ्युचर नहीं लेकिन यदि आपने एक अच्छा बिजनेस करते हैं और सक्सेसफुल हो जाते हैं तो आपके आने वाले पीढ़ी की तकदीर चमक जाती हैं.

* बिजनेस में आपकों हमेशा चिंता बनी रहती हैं कि मेरा बिजनेस आइडिया फ्लॉप न हो जाए, पूरा पैसा डूब न जाए, सक्सेस मिलेगा कि नहीं इत्यादि लेकिन नौकरी में ऐसा नहीं होता है.

* बिजनेस में हर इंसान का सक्सेस पाना बहुत मुश्किल है क्योंकि यह बहुत सी बातों पर आधारित हैं जैसे कि आपका आइडिया क्या हैं, कहाँ लोकेशन है, इन्वेस्टमेंट कितना है आदि चीजें लेकिन वही नौकरी में ऐसा नहीं है.

* बिजनेस हमेशा कुछ न कुछ प्रॉब्लमस और चुनौतीपूर्ण से भरा रहता है लेकिन नौकरी में केवल आपकों अपने काम और टार्गेट से ही मतलब होता है. आपकों कंपनी डूब रही है या बढ़ रही हैं  इससे उतना दिलचस्पी नहीं होती है क्योंकि इसके लिए कंपनी का मालिक या CEO है न.

निष्कर्ष, 

इस पोस्ट में आपने जाना नौकरी और बिजनेस में क्या अंतर है? और साथ में यह भी जानने को मिला कि नौकरी और बिजनेस के क्या फ़ायदे और नुकसान हो सकते हैं.

मुझे आशा है कि यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी और यदि इस पोस्ट से संबंधित आप कोई सवाल पूछना या अपने experience हमारे साथ share करना चाहते हैं तो आप नीचे comment box के माध्यम से कर सकते हैं.

यदि यह आर्टिकल अच्छी लगीं है तो कृपया इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, परिवारजनों इत्यादि के साथ सोशल नेटवर्क पर share जरूर करें.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here