स्मार्ट वर्क कैसे करें? जाने हिंदी में

क्या आप जानते हैं स्मार्ट वर्क कैसे करें? Smart Work करना क्यों जरूरी है और इसके फायदे क्या हैं? यदि आप स्मार्ट वर्क से संबंधित बातों को जानना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए है.

दुनियाभर में Famous है कि Hard Work करने से बड़े से बड़े चीजों को हासिल किया जा सकता है लेकिन क्या आज के समय में ऐसा है?

मुझे नहीं लगता कि केवल हार्ड वर्क करने से जीवन में सफलता हासिल किया जा सकता है. यदि ऐसा होता तो एक rickshaw वाला या एक मजदूर जो दिन रात कड़ी मेहनत करते हैं वे सफल इंसान बन चुके होते .

लेकिन ऐसा नहीं है? वे लोग मेहनत करते हैं और उनके ऊपर बैठा मालिक अमीर होते जाता है. तो ऐसा कौन सा काम हैं जिसे आपकों hard work के साथ जोड़ना चाहिए?

तरीके तो बहुत से है लेकिन यदि आप केवल hard work के साथ smart work करने लगते हैं तो आपके जीवन में अनेकों बदलाव देखनो को मिलेगा.

इसे आप किसी भी फील्ड में कोई भी इंसान अपने काम में सफलता पाने के लिए इस्तेमाल कर सकता है और जल्द से जल्द जीवन में अपने सोचे मुकाम को हासिल कर सकता है.

स्मार्ट वर्क क्या हैं – What is Smart Work in Hindi 

स्मार्ट वर्क एक प्रकार की काम करने का वो तरीका है जिससे इंसान बड़ी से बड़ी मुश्किल का समाधान आसानी से निकाल लेता है.

आप वही काम करते हैं जो पहले करते हैं जैसे कि यदि आप एक student है तो आप पढ़ाई ही करेंगे, Businessmen है तो बिजनेस ही करेंगे, इत्यादि लेकिन आपके काम करने के तरीके और सभी लोगों से अलग होता.

इसके सहारे आप अपने काम को करने में आनंद महसूस करने के साथ – साथ समय पर पूरा भी कर सकेंगे. यदि आप अपने काम में smart work करना चालू करते हैं तो सफलता होने का chance 90 प्रतिशत और बढ़ जाता है.

स्मार्ट वर्क और हार्ड वर्क में अंतर – Smart Work Vs Hard Work in Hindi 

  • हार्ड वर्क फूल डेडिकेशन से किया जाता है और स्मार्ट वर्क skills से किया जाता है.
  • हार्ड वर्क में बहुत सारे efforts करने के बावजूद भी कम काम हो पाता है लेकिन स्मार्ट वर्क में little efforts से बहुत ज़्यादा काम किया जा सकता है.
  • किसी काम को समय के अन्दर पूरा करने के लिए हार्ड वर्क में फूल डेडिकेशन और lots of effort की जरूरत होती हैं लेकिन स्मार्ट वर्क में आपके काम करने के thinking के ऊपर निर्भर करता है.
  • हार्ड वर्क Freshers लोग ज़्यादा करते हैं और स्मार्ट वर्क Experienced लोग ज़्यादा करते हैं.
  • हार्ड वर्क में लोग physocal body का ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं लेकिन स्मार्ट वर्क में लोग अपने mental का ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं.
  • हार्ड वर्क में success बहुत लंबे समय के बाद में मिलता है लेकिन स्मार्ट वर्क करने से कम से कम समय में सफलता हासिल किया जा सकता है.
  • हार्ड वर्क (Hard Work) करने से आपका काम पूरा होने में लंबा समय लगता है लेकिन स्मार्ट वर्क करने से आप अपने काम को बहुत कम समय में पूरा कर सकते हैं.

स्मार्ट वर्क करने के फायदे – Smart Work Karne Ke Fayde

जैसे कि हमने जाना कि Hard Work से कितना ज़्यादा Smart Work करना बेहतर हैं? लेकिन यदि आप दोनों को एक साथ करने लगते हैं तो मानो सोने पर सुहागा हो गया.

स्मार्ट वर्क में आप कोई भी काम को आसान रूप में बदल सकते हैं क्योंकि यहां फ़िज़िकल से ज़्यादा मेंटल का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए success होने का chance ज़्यादा हो जाती है.

यदि आप कम समय और effort से अपना काम पूरा करना चाहते हैं तो आपको smart work करना चाहिए. बहुत से लोगों को smart work के बारे में पहले से जानकारी होती हैं लेकिन वे इसे इस्तेमाल करने की बजाय hard work करना ज़्यादा अच्छा समझते हैं.

हार्ड वर्क करना चाहिए लेकिन यदि आज के समय में भी यदि आप केवल hard work पर निर्भर है तो success पाना बहुत मुश्किल हो सकता है. आपकों इसके साथ smart work भी करना चाहिए ताकि जल्द से जल्द सफलता की योर बढ़ सकें.

स्मार्ट वर्क कैसे करें – Smart Work Kaise Kare 

यदि आप स्मार्ट वर्क के बारे में जान चुके हैं और जानना चाहते हैं इसे कैसे किया जाता है तो इसे पढ़े. यहां हमने आपकों कुछ तरीके बताया है जिसके माध्यम से आप smart work आसानी से कर सकते हैं.

इसे भी पढ़े :

1. काम का Schedule बनाए 

यदि आप smart work करना चाहते और अपने काम के लिए schedule नहीं बनाए हो तो आज ही तैयार कर लीजिए. हम जानते हैं कि बिना किसी शेड्यूल से आप कोई भी work को ढंग से नहीं कर सकते हैं इसलिए इसे तैयार करना बहुत जरूरी है.

शेड्यूल से काम करने पर आपका काम समय और सही तरीके से होता है. आपकों किसी अन्य काम के लिए सोचने की जरूरत नहीं होती हैं और जल्दी से काम होने पर आपका मन काम में लगा रहता है.

2. अपने काम का Priority डिसाइड करें

आपने अनुसूची (schedule) तो तैयार कर लिया और डिसाइड कर लिया कि कब कौन सा काम करेंगे लेकिन जारा सोचिए यदि उसको प्राथमिकता नहीं दिया जाए तो क्या वो कभी समय पर पूरा होगा?

इसलिए आपकों schedule बनाने के साथ अपने काम का प्राथमिकता डिसाइड करना भी बहुत जरूरी है. तभी आप इसे सही ढंग से करने में सक्षम हो सकते हैं.

3. 30- 60 मिनट के अंतराल में काम करें

आपने दोनों चीजों का इस्तेमाल अपने काम के दौरान करने लगे लेकिन पूरा समय बिना कोई Breaks से काम कर रहे हैं तो क्या यह सही है?

ऐसा करने से आप बहुत जल्द थक जाएंगे और लंबे समय तक काम नहीं कर सकते हैं और साथ ही आपका काम पूरे मन से नहीं होता है इसलिए आपकों अपने काम में 30 – 60 मिनट के बाद थोड़ा breaks लेना चाहिए.

ध्यान रखें कि आप अपने breaks से दौरान कोई ऐसा काम करे कि आपका मन काम करने के लिए refresh हो जाए ताकि आप अपने काम को अच्छी तरह से करने में सक्षम हो पाए. साथ ही आपका breaks का अन्तराल लंबा भी नहीं होना चाहिए. आप 10 – 15 मिनट का समय सीमा तैयार कर सकते हैं और उसके बाद फिर से काम पर लग सकते हैं.

निष्कर्ष, 

आज की इस post में आपने सीखा स्मार्ट वर्क क्या हैं और स्मार्ट वर्क कैसे करें? से जुड़ी जानकारी के बारे में. साथ ही हार्ड वर्क और स्मार्ट वर्क में क्या अंतर होता है.

हम आशा करते हैं कि हमारी पोस्ट आपकों अच्छी लगीं होगी और आज कुछ नया सीखने को मिला होगा. यदि अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, परिवारजनों, इत्यादि के साथ अपने social networks के माध्यम से share जरूर करें.

इस आर्टिकल से संबंधित यदि आपके मन में कोई सुझाव या सवाल है तो आप हमसे नीचे कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं. हमारी हमेशा से कोशिश रहती हैं कि आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द दिया जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here